Advertisement

शूर्पणखा थी शादीशुदा, रावण ने अपने ही बहनोई को मार बहिन को कर दिया था विधवा! जाने क्यों?

" सुन कर शायद आप चोंक गए होंगे क्योंकि आपने भी रामायण देखि दी टीवी पर लेकिन पढ़ी नही है, ये बात बिलकुल सही है शूर्पणखा शादी शुदा थी जिसे रावण ने ही विधवा बना दिया"

Advertisement

सुन कर शायद आप चोंक गए होंगे क्योंकि आपने भी रामायण देखि दी टीवी पर लेकिन पढ़ी नही है, ये बात बिलकुल सही है शूर्पणखा शादी शुदा थी जिसे रावण ने ही विधवा बना दिया था. श्रीमद वाल्मीकि रामायण में शूर्पणखा के विवाह उसके पति का वर्णन है, साथ ही रावण ने क्यों उसके पति यानि अपने बहनोई को मारा ये भी वर्णन है.

रावण, कुम्भकरण, विभीषण और शूर्पणखा ये चारो सगे भाई बहिन थे सभी का विवाह हुआ शूर्पणखा का विवाह कालकेय जाती के राक्षस विधुज्जिह से हुआ था जो की पटेल में निवास करता था. रावण विश्रवा ऋषि का पुत्र थे लेकिन उसने अपने ब्राह्मण पिता का नही माता कैकसी के कुल राक्षस वंश के गुणों का आश्रय लिया था.


लंका पर उसके राज्याभिषेक होते ही उसने त्रिलोकी जितने का प्राण किया इस बाबत वो सभी लोगो में युद्ध के लिए विचरने लगा. उसी समय वो पाताल में गया और वँहा कालकेय राक्षसों से संग्राम में अपने बहनोई को मार डाला. पाताल विजय कर जब वो लंका पहुंच तो पीछे शूर्पणखा भी आ पहुंची और विलाप करने लगी.

जब रावण  ने उसका कारण पूछा तो शूर्पणखा ने कहा की आपने खुद ही मुझे विधवा कर दिया और अब मेरे विलाप के विषय में पूछ रहे है. तब रावण ने उसे कहा की मैंने जान बुझ कर उसे नही मारा में युद्ध के नशे में था और उस समय मुझे इस बात का ध्यान न रहा की सामने बहनोई है या कोई राक्षस.

तब रावण ने शूर्पणखा को खर दूषण भाइयो के साथ 14000 राक्षस दिए और जनस्थान में उसके लिए रहने की व्यवस्था करि जंहा वो आसानी से नर भक्षण कर अपना जीवन आनंद से गुजारे....
story sources: shrimad valmiki ramayan

Advertisement
Related Content

India made Jupiter king's illegitimate son as his heir, why? राजा भरत ने बृहस्पति के नाजायज पुत्र को क्यों बनाया अपना उत्तराधिकारी?

राजा भरत के पांच बेटे थे लेकिन फिर भी राजा ने अपने पुत्रो के बजाय बृहस्पति के नाजायज पुत्र विरथ को अपना उत्तराधाकारी बनाया क्योकि वह अपने पुत्रो को इसके योग्य

vastudosh prevention tricks in vastushastr काले जादू और बुरी नजर से बचाती है ये साधारण लगने वाली चीजे

वास्तु विज्ञान के अनुसार घर में किसी भी प्रकार के वास्तु दोष को दूर करने के लिए घर की छत पर उत्तर पूर्व दिशा में पांच तुलसी का पौधा लगाना चाहिए।

story of tulsi berth you dont know इस औरत की चिता की राख से पहली बार उगी थी तुलसी, जाने कौन थी वो?

तुलसी का पौध हिन्दुओ के लिए आस्था की वजह से और वैज्ञानिकों के लिए औषधि की दृष्टि से काफी उपयोगी है, लेकिन आपको पता है इसका प्रादुर्भाव कंहा से हुआ? दरअसल पहली

 Fishing Mata temple worship those fish! मत्स्य माता मंदिर यहां लोग मछली की पूजा करते है ! जाने इस अनोखे मंदिर के बारे मे

आपने कई देवी देवताओ के मंदिर देखे होंगे लेकिन आज में आपको एक ऐसे मंदिर के बारे में बता रहा हु जिसके बारे आपने भी सुना यह के लोग मछली की पूजा करते है ! जाने ....

when lord krishna told importance of one piece of food जब भगवन कृष्णा ने समझे द्रौपदी को अन्न के एक दाने की कीमत

भक्तभयहारी भगवान उसी क्षण द्रोपदी के समक्ष प्रकट हो गए और उन्होंने बटलोई में लगा हुआ शाक का एक पत्ता खाकर विश्व को तृप्त कर दिया।

the great devotees of lord vishnu भगवान कब क्या कर रहे है ये भी जानने वाले महाभक्त की कहानी

आज आपको ऐसे एक भक्त के बारे में बता रहे है जो की इससे भी एक कदम आगे बढ़ गया, और उसने तो ये तक जान लिया की अब भगवान क्या कर रहा है.

bhishma tell the reason, why he unable to stop what happened with draupadi's क्यों बाणो की शैय्या पर सोये भीष्म को सुन हंस पड़ी द्रौपदी?

महाभारत युद्ध के दसवे दिन अर्जुन ने शिखंडी की मदद से भीष्म को बाण शैय्या पे सुला दिया था, इच्छा मृत्यु के वरदान के चलते भीष्म के प्राण स्वयं यमराज भी नही ले जा

Dharmaraja Yudhisthira was the slaughter of his own Mamasri what? क्या धर्मराज युधिस्ठिर ने किया था अपने ही मामाश्री का वध?

धर्मराज युधिस्ठिर ने ही अपने मामाश्री का वध किया था दुर्योधन ने शल्य को अपनी तरफ कर लिया था महाभारत युद्ध में शल्य कारन की सारथि बने थे!

some after death story of ravan's murder रावण वध के बाद भी क्यों नहीं गए थे राम लंका में सीता को लेने

जब विभीषण ने भगवान राम को रावण की मृत्यु का भेद बताया तो भगवान राम ने एक साथ 31 बाण अपने धनुष से छोड़े. हला बाण लगा रावण की नाभि जिससे उसमे समाहित अमृत निकल गया

guru nanak visited kaba of makka sharif and make it count मक्का में एक काजी ने मारी नानक को लात तो गुरु ने दिखाया जलवा!

गुरु नानक देव एक बार हज यात्रा पर गए, संत कंही भी जा सकते है उनके लिए कोई सीमाये नहीं होती है. वाहे गुरु की मेहर थी उनपे और वो अपनी ही धुन में मस्त रहते थे

what is scientific reason behind eating foods from hand हिन्दू मान्यताओ के अनुसार हाथ से ही क्यों खाना चाहिए खाना?

भारत की संस्कृति जितनी पुरानी है उसकी मान्यताये उतनी ही तार्किक भी है, हालाँकि विदेशी अपने को बेहतर समझते हुए इसे नकारते आये है पर सच छुपाये नहीं छुपता.

unknown story from ramayana राम के जीजा ने कराया था अपने तपोबल को खोके रामजन्म

आप को ये जान कर हैरानी होगी की राजा दशरथ के कौशल्या से एक पुत्री थी जिसका नाम था शांता उनके पैदा होते ही अयोध्या में भयंकर सुखा पड़ा.

Garuda Purana - 5 of these men and women work to Goddess Lakshmi is upset गरुड़ पुराण- इन 5 काम स्त्री-पुरुष के करने से देवी लक्ष्मी रूठ जाती है

आज इस समय हर कोई व्यक्ति आमिर बनना चाहता है लेकिन उसके पास कोई अच्छा काम नहीं है और हो भी तो उसका खर्च ज्यादा होता है! इसमें लक्ष्मी माता कि कृपा...

Goddess rati, lady of love cared her husband ki childhood than married to him इस हिन्दू देवी ने अपने ही पति को माँ की तरह पाला, जवान होने पर की शादी!

हिन्दुधर्म की रति देवी ने अपने ही पति को पुत्र रूप में पालन किया और जब वो जवान हो गया तो फिर उससे शादी भी की, लेकिन इसके पीछे एक दर्दनाक त्याग की कहानी है आप इस

Israel has the world's most dangerous military operation so never Antebbe इजराइल ने विश्व का सबसे खतरनाक आर्मी ऑपरेशन एंतेब्बे किया वैसा कभी नहीं हुआ

कही तरह के युद्ध विश्व में हुए थे इसमें अपनी अपनी चयनित सेना में सेनिको ने भाग लिया और 4 जुलाई 1976 को...

Devraj Indra is due to the arrogance of the sea churn out 14 unique things देवराज इंद्रा के अहंकार के कारण हुआ समुन्दर मंथन, निकली 14 अनोखी चीजे

समुन्द्र मंथन के बारे में आपने काफी कुछ सुना और पड़ा भी होगा लेकिन यह नहीं पता होगा कि उसमे से क्या क्या निकला और किस कारण से ये समुन्द्र मंथन किया...

shankrachary given many critical statements हिन्दुओ को स्कूलों में मिले धर्म की शिक्षा, ताजमहल है शिवलिंग साईं थे मुस्लमान: शंकराचार्य

शिरडी में बनी उनकी मजार पर हिंदुओं को जाने से बचने की सलाह दी। स्कूलों में हिन्दू धर्म ग्रंथो की पढ़ाई कराई जाए। ताजमहल के नीचे शिवलिंग बना है।

khatu shyam ji priested by lord krishna devotees as neme of him क्यों कहा जाता है खाटू श्याम जी को हारे का सहारा

राजस्थान के सीकर जिले में स्थित खाटू श्याम नरेश भगवान के नाम से पूजे जाते है, उन्होंने कृष्ण के मांगने पर हँसते हँसते अपने शीश का दान दिया था.

What was born from the blood of Lord Vishnu Shipra river क्या शिप्रा नदी भगवान विष्णु के रक्त से उत्पन्न हुई थी

उज्जैन की शिप्रा नहीं जहाँ हर १२ वर्ष बाद सिहस्थ कुम्भ का आयोजन किया जाता है कुम्भ विश्व का सबसे बड़ा मेला है शिप्रा नदी भगवान विष्णु के रक्त से उत्पन्न हुई थी

Yudhisthira in the Mahabharata war by sin, hell had to look महाभारत युद्ध में युध‌िष्ठ‌िर ने किया पाप, देखना पड़ा नर्क

महाभारत युद्ध में द्रोणाचार्य के रणकौशल से पांडव-सेना के कई बड़े-बड़े महारथी भी चिंता में हो गए थे। इसके कारण...

maharshi markandey tell story to yudhisthar of indradyumya स्वर्ग भी नहीं है स्थायी, सत्कर्मो के फल ख़त्म होते ही फिर लेना पड़ेगा जन्म

जब पांडव वनवास में थे तो उस समय उन्हें मार्कण्डेय ऋषि मिले, पांडवो ने उनका सत्संग किया मार्कण्डेय ने युधिष्ठर के पूछे जाने पर एक कथा सुनाई थी.

eliminate back fat with yoga red new योग अपनाएं, कमर की चर्बी घटाएं

अपने फिटनेस के लक्ष्य को हासिल करने के लिए सबसे मुश्किल काम है कमर की चर्बी से पीछा छुड़ाना लेकिन आप जानिए कैसे और क्यों होता हे ये सब !

All over India is really the only temple of Brahma? क्या सच में पुरे भारत में एक ही मंदिर है ब्रह्माजी का?

न्दू धर्मग्रन्थ पद्म पुराण के अनुसार एक समयधरती पर वज्रनाश नामक राक्षस ने उत्पात मचा रखा था। इसके चलते ऐसा काफी कुछ हुआ जिससे ब्रह्माजी का एक ही मंदिर...

 The dead man is alive miracle युधिष्ठर द्वारा स्थापित शिव का आत्मलिंग, यंहा है चमत्कारिक वेंटीलेटर! मृत हो जाता है जीवित और...

एक ऐसी जगह जहा मरा हुआ व्यक्ति भी जिन्दा हो सकता है अगर कोई यहाँ मरे हुए व्यक्ति के शव को लेफ्ट है तो उसके शरीर में उसकी आत्मा बापस लोट आती है और बो जिन्दा हो .