Advertisement

अनुपम : प्राण प्रिय सीता ही नही सभी भाइयो और पुत्रो का भी त्याग कर दिया था राम जी ने....

"बेशर्म और बेवकूफ लोग जो ये नही जानते समझते की राजधर्म और लोकतंत्र की असल मर्यादा क्या होती है वो भगवान् राम के द्वारा प्राण प्रिय सीता के त्याग पर सवाल उठाते है"

Advertisement

बेशर्म और बेवकूफ लोग जो ये नही जानते समझते की राजधर्म और लोकतंत्र की असल मर्यादा क्या होती है वो भगवान् राम के द्वारा प्राण प्रिय सीता के त्याग पर सवाल उठाते है जो की उन्हें नरक का भागी बना देती है. ऐसे लोगो को समझने में भी दोष लगता है रामभक्तो को तो व्यर्थ चेष्ठा न करे...

लेकिन जिनकी राम जी में अटूट आस्था है वो ये भी जान ले की भगवान् राम जी ने प्राण वल्लभ सीता जी का ही नही बल्कि अपने ही अंश तीनो भाइयो का और अपने पुत्रो का भी त्याग कर दिया था और इतना कष्ट सहा था जो अब तक न तो किसी भी अवतार ने सहा होगा और न ही आगे भी ऐसा कोई अवतार होगा.


श्रीमद वाल्मीकि रामायण में माता सीता को वन में छोड़ कर आते लक्ष्मण जाते समय भी खूब रो रहे थे उनसे कुछ बोला नही जा रहा था तब पहले दशरथ के और राम जी के सारथि सुरथ ने उन्हें दुर्वासा द्वारा की गई भविष्य वाणी सुनाई जो उन्होंने दशरथ जी के साथ रहते सुनाई थी. जिसमे राम जी के अत्यधिक कष्ट सहने और सिता के वनवास का भी कारन बताया था.

देवासुर संग्राम में भृगु ऋषि की पत्नी शुक्राचार्य की माँ ने राक्षसों के अपने आश्रम में शरण दी और उन्हें मारने आये देवताओ को मरना शुरू कर दिया था. तब अदिति पुत्र वामन ने उन्हें चक्र से मार गिराया था इसपर भृगु ऋषि ने उन्हें श्राप दिया की तुम्हे भी अपनी पत्नी से वियोग सहन होगा तुम कभी उसके साथ नही रह सकोगे (चिरकाल तक).


जब भृगु को अपनी भूल का एहसास हुआ तो उन्होंने तपस्या कर भगवान् विष्णु से उनके श्राप को स्वीकार कर उनके सम्मान की रक्षा करने को कहा. तब उन्होंने त्रेता में रामावतार में इस श्राप को भुगतने का वरदान दिया जिसके फलस्वरूप गर्भवती सिता को राम जी को त्यागना पड़ा राजधर्म के चलते और इस श्राप के चलते.

इतना ही नही वो तुम्हारा भारत शत्रुघ्न और पुत्रो (लव-कुश) का भी त्याग कर देंगे ये सुन का लक्षमण को भाग्य पर विश्वास हुआ और वो शांत हो कर गए और भाई राम को साधुवाद दिया (अन्यथा उललंभ देके पाप करते), तब राम जी का भी शोक जाता रहा और दोनों ने राज्यभर फिर सम्हाला.

आगे जाके उन्होंने शत्रुघ्न को लवणासुर को मारने के बहाने त्याग दिया और उसने मथुरा बसाई, भारत जी को उनके पुत्रो के साथ जाने को कहा की अलग राज्य बसा दो दोनों पुत्रो को. लक्ष्मण को काम के सामने की गई प्रतिज्ञा के चलते प्राण दंड न दे के त्याग दिया और वो सभी भाइयो में सशरीर साकेत धाम जाने वाले पहले हुए. 

ऐसे अनुपम त्याग और दुःख भरे जीवन से भरी हुई राम कथा को सुन कर ज्ञानी जन भी रो देते है, हालाँकि साधारण लोगो को तो ये समझ ही नही आती है. जय श्री राम...


Advertisement
Related Content

Garuda Purana states would sooner die than working 4 गरुड़ पुराण में कहा गया है 4 काम करने से आएगी जल्दी मृत्यु

गरुड़ पुराण के बारे में लोगों में यह भ्रांति है कि इसमें सिर्फ मृत्यु के पश्चात होने वाली घटनाओं का ही उल्लेख है। इसी के अनुसार मृत्यु जल्दी ना...

amazing secret of rama no one know अनुपम : प्राण प्रिय सीता ही नही सभी भाइयो और पुत्रो का भी त्याग कर दिया था राम जी ने....

बेशर्म और बेवकूफ लोग जो ये नही जानते समझते की राजधर्म और लोकतंत्र की असल मर्यादा क्या होती है वो भगवान् राम के द्वारा प्राण प्रिय सीता के त्याग पर सवाल उठाते है

Mother, the miracle of the sword cut philosophy Gala चमत्कार तलवार से गाला काट कर देवी माँ ने दिए दर्शन ! जाने इस हकिगत को

देवी माँ ने नवरात्र के समापन के दिन चमत्कार कर दिखाया लाखो से संख्या में भक्त इखट्टा थे इस मन्दिर को समत्कारी मन्दिर के नाम से जाना जाता है जाने इस के बारे में

talent story of gods which was read in childhood school book स्कुल की किताबो में पढ़ी जाती थी, देवताओ की कहानिया अब सेकुलरिज्म में खो गई

स्कूल की किताबो में. देश भक्ति की और भारत के प्रमुख विचारको की, पर अब वो पाठ्यक्रम बंद हो गए है. मॉडर्निजेशन के चलते नहीं बल्कि सेकुलरिज्म के चलते.

 Seven people live snake snake shedding Prithbi exists pairs of Nagyan यंहा सात नाग नागिन के जोड़े रहते है....

आज तक आपने नाग लोख के बारे में के वल लथाओ में ही सुना होगा लेकिन आज हम आपको अश्ली नाग लोख के दर्शन करा रहे है और ये नाग लोग कहि और नही पृथ्बी पर ही स्थित है ...

Amazing benefit of Sanskrit language! संस्कृत सीखे और पाए विदेश में भारी पैकेज (वेतनमान) की नौकरी!

संस्कृत को अनिवार्य करने के नाम से ही सेक्युलर भड़क उठते है, उन्हें ये लगता है की संस्कृत एक हिंदूवादी भाषा है और ये दूसरे धर्म को आहत करती है! लेकिन अगर संस्कृत

Here comes the water from stones, Ram and Sita's mother sign post यहाँ निकलता है पत्थर से पानी, श्रीराम और माता सीता के है पद चिन्ह

झारखण्ड में बना शिव मंदिर स्थानीय लोगो के लिए विशेष मान्यता रखता है यहाँ की चट्टान पर भगवान श्री राम और माता सीता के चरण चिन्ह है

 Bhima of Mahabharata miracle Svsesh महाभारत काल के भीम का चमत्कारिक सवशेष ! जाने इसके बारे में

अब तक आपने महाभारत के कई अबशेषो के बारे में सुना होगा लेकिन आज में आपको एक ऐसे अबशेष के बारे में बता रहा हु जो भीम का है जाने भीम के इस अबशेष के बारे में ......

hindu panchangs vaishakh month started from fifth of april भगवान मधुसूदन का प्रिय महीना है वैशाख

भारत के महान शाश्त्र-पुराणों में कहा गया है कि इस माह में सूर्य उदय से पहले जो कोई भी स्नान करता है तथा एक समय ही अगर करता है, वह भगवान की दया का पात्र बनें.

unique and untouched story of great ramayana श्री राम जी के भी थी तिन सालिया, जाने किनसे हुई थी उनकी शादी?

रामायण का नाम ध्यान में आते ही मन मर्यादाओ से भर जाता है, लेकिन आज भी अनेको ऐसे रामायण के तथ्य है जो की छुपे हुए है. मसलन श्रीराम की पत्नी सीता के तीन छोटी बहने

muslim peoples of uttarpradesh, insulted national flag on 15 august राम कृष्ण की धरती पर खूब हुआ राष्ट्रिय ध्वज का अपमान, नो कवरेज!

गोरखपुर जिले के गोला में तिरंगे का अपमान करते हुए मुस्लिम युवक ने पाकिस्तानी झंडा फहरा दिया जिसके बाद उसे गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया, नीचे उतार कर पैरों से रौ

know facts about temple keedarnath केदारनाथ मंदिर के बारे में जानें ये अद्भूत जानकारी

भारत में एक बहुत ही मसहूर और विशाल मंदिर केदारनाथ हे जो की 3593 फीट की ऊंचाई पर बसा हुआ हे, इतनी ऊपर केदारनाथ मंदिर को किस प्रकार बनाया अभी पता नहीं पाया हे...

Few know these facts about the hanging in India! क्या आप जानते है, किसी को फांसी देने से पहले क्या कहता है जल्लाद मरने वाले से?

भारत में विशेष परिस्थियों में ही किसी को फांसी दी जाती है, लेकिन क्या आप जानते है की फांसी देने के इसके आलावा क्या क्या कायदे है? जिसको फांसी होनी है उससे जल्लाद क्या कहता है उसे फांसी देने से पहले, बहुत कम जानते है ये बहुत सी बातें....

 Unique temple in the temple ends in a moment of anguish of eyes! अनोखा मंदिर इस मंदिर में आँखों की पीड़ा पल भर में दूर हो जाती है ! जाने इस अनोखे मंदिर के बारे में

आपने कई चमत्कारिक मन्दिरो के बारे में सुना होगा लेकिन आज में आपको एक ऐसे चमत्कारिक मंदिर के बारे में बता रहा हु जिसके बारे में आपने पहले कभी नही सुना होगा .....

 Pakistan began to fight among themselves the wonders of the Divine Mother जय माता दी: भारतीय सेना की चमत्कारिक छावनियां, कंही रक्षा करती है शहीद की आत्मा तो कंही स्वयं मातारानी!

इस मंदिर के पास आते ही पाक के नापाक इरादे फेल होजाते है क्योंकि ये देवी माँ का मंदिर ऐसा ही चमत्कारी है यहाँ पर कई चमत्कार हुए है जाने इस मंदिर के बारे में

place found where the bakasur was killed from bhima मिल गई वो जगह जन्हा वनवास के दौरान भीम ने मारा था बकासुर को

ममलेश्वर महादेव मंदिर जो की हिमाचल प्रदेश की करसोगा घाटी के ममेल गांव में स्तिथ है। हिमाचल प्रदेश जिसे की देव भूमि भी कहा जाता है पग पग पे है मंदिर.

Shiva is the only world that grows every year विश्व का एकमात्र शिवलिंग जो बढ़ता है हर साल, देखिये

शिवलिंग अपने आप खुद बड़ा और मोटा होता जा रहा है। आपको बता दे यह जमीन से करीब 18 फीट उंचा एवं 20 फीट गोलाकार है पर इसको ...

Why dog unique way of justice-law told Sriramcndra आखिर क्यों कुत्ते ने न्याय का अनोखा तरीका श्रीरामचन्द्र जी को बताया

भगवान् श्रीराम के बारे में आपने काफी कुछ सुना होगा लेकिन ये रोचक कहानी नहीं सुनी होगी! कुत्ते भी अपने पाप और न्याय के लिए कुछ खास ही करते है जैसा...

when the pralaya is coming, god will decide how to survived इंसानी वजूद और प्रलय, बचने के तरीके की खोज, जाने

द्वापर युग समाप्ति पर था पांडवो ने अपना राज पात पुत्र परीक्षित को सौंप कर शसरीर स्वर्ग जाने के लिए हिमालय कूच किया, पर सिर्फ युधिष्ठिर ही ऐसा कर पाये.

the saga of great devotee of lord venkateshwar from tirumala भक्त जिसने भगवान की ठोड़ी (चिन) ही तोड़ डाली, भगवान ने बनाया मामा

सदियों पहले की वेंकटेश्वर मंदिर की एक घटना है, पुजारी ने जैसे ही मंदिर के द्वार खोले तो ऑंखें खुली की खुली रह गई, माता लक्ष्मी जो की भगवान के वक्षस्थल पर

Saturn temple worship over the years, making women priests वर्षों से कर रही शनि देव मंदिर की पूजा महिला पुजारी

आपके देखा ही होगा कि मंदिर में पूजा-अर्चना पुरुष ही करता है, पर एक शहर जहा वर्षो से एक महिला पूजा कर रही है और वो सब बातो से अनजान बस शनि देव की सेवा...

 Arddhnareshwar taken as a child born of Lord Shiva Abtar believe it is अर्द्धनारेश्वर के रूप में लिया एक बच्चे ने जन्म लोग इसे भगवान् शिव का अबतार मान रहे है

चमत्कार एक बच्चे ने अर्द्धनारीश्वर के रूप में जन्म लिया है इसे देखने के लिया अस्पताल में लोगो की भीड़ इखट्टा हो रही है लोग इसे भगवान शिव का अबतार मान रहे है जाने

power of gayatri mantra गायत्री मंत्र जाप की सही विधि, आपको देगी लाभ

महान गायत्री मंत्र को वेदों का सर्वश्रेष्ठ मंत्र माना गया है। गायत्री मंत्र जप के लिए तीन समय बताए गए हैं। मंत्र जप तेज आवाज में नहीं करना चाहिए

draupadi loved arjun most, but bhima was her real lover द्रौपदी से प्रेरित है आज की लड़कियों की सोच, जाने किस विषय मैं

जब पांडव वनवास में थे, तब उसी समय द्रुपद नरेश ने अपनी पुत्री को ब्याहने के लिए स्वयंवर का आयोजन किया. दुर्योधन समेत कई सारे देशो के राजा उपस्थित थे.