Advertisement

जब आत्मा शरीर से जाती है, तो उसके साथ और क्या क्या जाता है शरीर से???

"हर किसी को पता है की जो जंहा है वो एक न एक दिन मरेगा ही, जब तक शरीर में आत्मा है वो कर्म करता है उसके बाद वो मर जाता है!लेकिन उसके आत्मा के साथ और क्या क्या...."

Advertisement
मौत एक ऐसा सच है जिसे कोई भी झुठला नहीं सकता है, चाहे भिखारी और या अम्बानी सबको एक न एक दिन मरना पड़ता है! गर्भ में पांच महीने का होने पर उसमे चेतना (आत्मा) आती है वो कौन डालता है कैसे आती है अभी भी वैज्ञानिक इस सवाल का जवाब नहीं दे पाए है!

ऐसे सवाल जब मनुष्य को विचलित करते है तो वो धर्म की शरण में भागता है, अगर वो धर्म की शरण में न जाए तो निश्चित ही मौत के डर से आत्महत्या कर लेता है! विदेशो में ज्यादातर आत्महत्याएं इसी कारन से होती है, हो सकता है इसी कारण विदेशी भारतीय अध्यात्म के प्रति इतने आकर्षित होते है!



जो सवाल हमने किया है उसका जवाब भी अध्यात्म में ही छुपा हुआ है, सनातन धर्म में ही इसका जवाब मौजूद है! सनातन धर्म पुनर्जन्म (84 तरह के शरीर) की बात करता है, कई धर्म पुनर जन्म को नहीं मानते लेकिन जब उनके धर्म के ही किसी का पुनर जन्म का उदहारण सामने आता है तो उनसे जवाब देने नहीं बनता है!

पुनरजन्म के चलते लोग इस जन्म में खुद को सांत्वना दे देते हैकि अगले जन्म में में मुक्ति पा लूंगा, इसके चलते (पुनर जन्म को नहीं मानते) ये एक विशेष कारन हो सकता है! वेदो में शास्त्रों में इस भेद का उल्लेख है लेकिन श्रीमद भगवत गीता में इसे अच्छे से समझाया गया है!

जब आत्मा शरीर से निकलती है तो उसके साथ पांचो इन्द्रिय, मन और बुद्धि भी निकल जाती है और अगले जन्म में जो भी शरीर मिलता है उसमे ये सभी जाते है! अगर आप किसी ऐसे व्यक्ति से मिलेंगे जिससे आप पूर्व जन्म में भी मिल चुके है तो आप ये सच महसूस कर सकेंगे!
 

स्टोरी सोर्सेज: श्रीमद भगवत गीता 

Advertisement
Related Content

beware of making relation with wife during periods! उन दिनों में भी बनाते है बीवी संग सम्बन्ध, जानिए गरुड़ पुराण की ये सच्चाई!

मौत के बाद राजा को बड़ा आश्चर्य हुआ क्योंकि उनकी आत्मा को लेने के लिए स्वर्ग के देवदूत नहीं अपितु यमलोक से दैत्य सामान यमदूत आये। तब जवाब मिला की

miss understanding of gods, may give you the target of your berth नाम संकीर्तन की महिमा: गलतफहमियों से भी हो सकता है आपका बेड़ा पार!

त्योहारो का समय है और सब खरीदारी में व्यस्त है, परिवार जनो के लिए उनकी ख़ुशी के लिए साल भर भागदौड़ करते है और ऐसे में त्यौहार सबसे फिर जोड़ के हमें ऊर्जा देता है.

pandava's eaten there fathers meat ऐसी क्या मजबूरी थी की अपने बाप को भी खा गए थे पांडव?

पाण्डु के पांच पुत्र थे, इनमे से युधिष्ठर-भीम-अर्जुन कुंती और नकुल-सहदेव माद्री की संताने थी, इन पाँचों पुत्रों को कहने bhar को पाण्डु का नाम मिला था.

 Also the only time that the world is afraid of दुनिया में काल से भी बढ़कर है ये शक्ति इसका गुस्सा सांत करने के लिए इन के चरणों में भगवान् शिव को गिरना पड़ा ! जाने इसके बारे में

क्या आपने दुनिया की इस सकती के बारे में सुना है जिसका सामना करने से स्वयं भफ्वान शिव भी डॉ गई थे इस सकती के सपने आने से काल भी डरता है जाने इसके बारे में ......

How much you know about Modi? 1958 में दिवाली के दिन गुजरात के कुछ बच्चो ने ज्वाइन की थी आरएसएस उसमे से एक थे....

अब तक आप समझ ही गए होंगे की यंहा किस के विषय में बात हो रही है, जी हाँ नरेंदर मोदी ही वो बालक थे और तब उनकी उम्र 8 वर्ष की थी! जाने ऐसे ही अनजाने तथ्य उनके....

If successful, what meghanaad worship Ravana in battle wins? क्या मेघनाद की पूजा सफल हो जाती तो युद्ध में रावण की विजय होती?

यदि रामायण के युद्ध में मेघनाद की पूजा सफल हो जाती तो इस युद्ध में रावण की विजय होती मेघनाद नवरात्रों में कुलदेवी की पूजा करके अजय बनाने वाली शक्तिया प्राप्त

who turn vivekanand into believers of god स्वामी विवेकानद थे नास्तिक, किसने बनाया उन्हें आस्तिक?

हुगली में जन्मे रामकृष्ण परमहंस का नाम पड़ा भगवन विष्णु पे पर वो माँ काली के परम उपासक बने. उन्हें लोग पागल कहते थे पर उन्हें इसकी कोई फ़िक्र नहीं थी.

 Hanuman coins having the carnage in Orissa ! हनुमान सिक्के को लेकर उड़ीसा में हो रही मार काट ! जाने

एक ऐसा सिक्का जिसके लिए उड़ीसा में मार काट मची है आपको बतादे की इस सिक्के को लोग हनुमान सिक्के के नाम से जानते है जाने ऐसा क्या है इस सिक्के में जिसके लिए ......

vaishakh month has donational tradition in hindu religions आ रही है अक्षय तृतीया कर लीजिये शुभ कर्मो की तैयारी

भारतीय पंचांग का वैशाख महीना चालू हो गया है इसके शुक्ल पखवाड़े की तीसरी तिथि अक्षय तृतीया कहलाती है जो की इस बार इक्कीस अप्रैल के दिन आनी है.

competition between vashishtha and vishwamitra, lesser know the fight दो ऋषियों की प्रतिस्पर्धा का परिणाम, बनते बनते रह गए दूसरे स्वर्ग और ब्रह्माण्ड!

भारतीय पुराणो में ऋषि मुनियो के तपोबल से तो आप वाकिफ ही होंगे, उनका तीनो लोको में आना जाना रहता था, मुचकन्द राजा ने इंद्र की तरफ से युद्ध भी लड़ा था. लेकिन आपने

the son who given himself death for his fathers glory पिता को आलोचना से बचाने के लिए, बेटे ने किया खुद को मौत के हवाले

एक प्रतापी ऋषि थे जिनका नाम था उद्दालक ( वाजश्रवस) उनके एक विवेकी पुत्र भी था जिसका नाम था नचिकेता. ऋषि ने एक बार के अनुष्ठान किया जिसकी परंपरा ये थी.

parvati cursed lanka to be burned! गृह-प्रवेश के दिन से ही श्रापित थी लंका

बर्फीली जगह होने पर श्री जी को ठण्ड का आभास हुआ. इस पर उन्होंने शिवर्धनगिनि से पूछ की महलो में रहनी वाली आप यंहा की सर्द हवाई कैसे सेह लेती है?

yellama ekvira or ellai amma goddess of south was parshuram's mother दक्षिण भारत में येल्लमा देवी के नाम से पूजी जाती है परशुराम की माँ!

भगवन विष्णु के छटे अवतार परशुराम जमदग्नि ऋषि के पुत्र थे, वो परम पितृ भक्त थे उनके जैसा पितृ भक्त इस दुनिया में आज तक कोई पैदा नही हुआ है. अपने पिता की आज्ञा

want prosperity for you home and family do some simple practices  घर परिवार में चाहिए बरकत, तो करे ये आसान से उपाय

अगर आपको लगता है की सबकुछ करने के बाद भी परिवार में खुसिया तो अति है पर वो टेम्पररी रहती है या उतना मजा नहीं आता जिससे दिल गार्डन गार्डन रहे

time is more power full than everything तुलसी के दोहो से जुडी महाभारत की अनसुनी कहानिया

"तुलसी नर का क्या बड़ा समय बड़ा बलवान, काबा लूटी गोपिया वही अर्जुन वाही बाण" इस दोहे से जुडी कहानी का अनुवाद हम करते है आप के लिए जो एक प्रेरक प्रसंग है.

modi criticised by indian political party while religious guru praises क्या मुस्लिम भाइयो के लिए मस्जिद गए साहिब? या फिर!

ऐसे में साथ ही वो भारत का प्रधानमंत्री हो और आरएसएस जैसे हिंदूवादी संगठन के द्वारा संचालित होने का उसपे आरोप भी लगा हो तो मामला और मसालेदार हो जाता है.

 Hajj is a temple of the soul after death, everyone has to go to visit the temple , said to be मंदिर जहां मौत के बाद हर किसी की आत्मा को दर्शन के लिए जाना पड़ता है!

आपने कई मंदिरो के बारे में बारे में सुना होगा और उनको देखा भी होगा लेकिन आज में आपको एक ऐसे मंदिर के बारे में बता रहा हु जहा एक न एक दिन हर किसी को दर्शन करने

the secret behind tirupati temple and srinivasa berth यशोदा की कृष्ण का विवाह न देख पाने की इच्छा के फलस्वरूप हुआ तिरुपति अवतार!

एक बार धरती पर प्रमुख ऋषि मुनियो का सत्संत हुआ, जिसमे नारद समेत सप्तऋषि भी सम्मिलित थे उस दिन परिचर्चा नारद ने ये करा दी की तीनो देवो में श्रेष्ठ कौन है?

Here Lord Krishna temple to wear the clothes of about 10 lakh यहाँ भगवान् कृष्ण पहनते है 10 लाख रुपए के कपड़े जाने इस मन्दिर के बारे में !

आपने सिख होगा की कई लोग इतने महगे महगे कपड़े पहनते है और अपने कई लोगो को पहनते हुए देखा होगा लेकिन क्या आपने किसी भगवान् को महगे कपड़े पङते गए देखा है जाने ......

shri krishna help arjuna to kidnap his sister subhadra भगवान कृष्ण थे प्रेम के पुजारी, अपनी ही बहन को प्रेमी संग भगवाया

आज का दौर ऐसा है की अगर कोई भाई अपनी बहिन को किसी लड़के के साथ देख ले तो उसकी बैंड बजाने पर उतर आता है, चाहे खुद या फिर दोस्तों की मदद से उसकी छुट्टी करने का

 Fers 'of the temple' with gold. becomes pregnant. women चमत्कार : इस मंदिर के फर्श पर सोने से औरते हो जाती है प्रेगनेंट !

निसंतान लोग संतान के लिए क्या क्या नहीं करते। ऐसा ही कुछ हिमाचल प्रदेश के एक गांव में होता है। हिमाचल के सिमस गांव में एक ऐसा मंदिर है जिसके फर्श पर सोने से निस

he got the blessing of his guru, to be served by almighty किस पुण्य कर्म की वजह से दबाये संदीपनी के पैर स्वयं भगवान कृष्ण ने

परम सत्य की जो आपके जीवन में अद्भुद प्रभाव ला सकता है, कथा उस गुरु की जिसने अपने सेवा और आदर भाव से वो पा लिया जिसके बारे में कोई कल्पना भी नहीं कर सक्ता है.

karna was an pure villain in mahabharata महाभारत: सूतपुत्र कर्ण के इन कुकर्मो को जान के आप भी कहेंगे उसे खलनायक...

शूरवीर कर्ण, दानवीर कर्ण, अंगराज कर्ण ये सब उपाधिया सुन सबको ये ही लगने लगा था की कर्ण एक वीर था, लेकिन जिसने असल महाभारत पढ़ी है वो उसपे जरूर थूँकेगा! Villain..

how abhimanyu's son survived in mahabharata! ब्रह्माश्त्र से झुलस के गिर गया था उतरा का 3 महीने का गर्भ, 6 महीने बाद.......

अभिमन्यु के वीर्य से उत्तरा के गर्भ में पांडवो का वंश पल रहा था, लेकिन युद्ध के आखिरी दिन कुछ ऐसा हो गया की वो नष्ट हो गया! जाने असल में क्या घटित हुआ था कैसे ?